Vijayadashami Festival Shayari Wallpaper 2020 Date In Hindi

Vijayadashami Festival Date 2020: Vijayadashami Festival Shayari, Vijayadashami Festival Shayari Wallpaper, Vijayadashami Festival Shayari In Hindi, Vijayadashami Festival Whatsapp Shayari, Vijayadashi Festival Facebook Shayari, विजयदशमी पर्व 2020 विजयदशमी दशमी का पर्व भारत में प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है| भगवान श्री राम ने रावण को युद्ध में पराजित किया था| इस लिए विजयदशमी का पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए मनाया जाता है| इस वर्ष विजयदशमी का पर्व 25 अक्तूबर 2020 में मनाया जाएगा| विजयदशमी का पर्व पुरे भारत में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है| विजयदशमी का पर्व भारत रामायण काल से ही मनाते आए रहे है| इस विजयदशमी के दिन रावण का पुतला बनाकर उसको जलाया जाता है| ऐसा माना जाता है इस दिन से बुराई यों कों हराकर अच्छाई के प्रतीक माना जाता है|.

Vijayadashami Festival Shayari

विजयदशमी का पर्व के दिन रावण का पुतला जलाने से पहले रामायण का हुं बहु चित्रण कर राम के द्वारा रावण का पुतला जलाया जाता है| प्राचीन इतिहास के अनुसार भगवान श्री राम में रावण की बहन का विवाह प्रस्ताव अस्वीकार कर दिया था| और उसे अपमान किया उसी से निराश होकर रावण ने भगवान श्री राम की पत्नी का अपहरण कर लिया था| फिर दोनों के बीच में युद्ध की शुरुआत हो गई थी| भगवान श्री राम में रावण को पराजित किया था| इसी लिए इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत का संदेश देते है| उसी दिन से विजयदशमी के दिन रावण का पुतला जला कर विजयदशमी का त्यौहार मनाया जाता है| तथा इसके 20 दिन बाद दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है|.

Dussehra Vijayadashi Festival Shayari

दशरहा ही नही बल्कि भारत में मनाए जाने वाले त्यौहार किसी ना किसी रूप में बुराई पर अच्छाई की जीत का संदेश देते है| दशहरा दीपावली से ठीक बीस दिन पहले पंचांग के अनुसार आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को विजयदशमी अथवा दशहरा के रूप में देश में मनाया जाता है| दशहरा हिंदूओं के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। यह त्यौहार भगवान श्री राम की कहानी को दर्शाता है| जिन्होंनें लंका में 9 दिनों तक लगातार चले युद्ध के पश्चात अंहकारी रावण को मार गिराया था| और माता सीता को उसकी क़ैद से मुक्त करवाया।

वहीं इस दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का संहार भी किया था| इसलिये भी इसे विजयदशमी के रुप में मनाया जाता है| और मां दूर्गा की पूजा भी की जाती है। इस अवशर पर सभी लोग एक दूसरे को दशहरा की बधाई देते है| और एक दूसरे को शायरी संदेश भेजते है| Dussehra Shayari in Hindi, Dussehra Facebook Shayari, Dussehra Whatsapp Shayari, दशहरा शायरी, Dussehra Shayari Wallapaer, Vijayadashami Festival Shayari 2020, Dussehra Wishes SMS, विजयादशमी शायरी, Vijayadashmi Shayari, Happy Vijayadashmi Shayari, Happy Dasara Sms Hindi, Vijaya Dashami Wishes Shayari, Dussehra Shayari in Hindi, Dussehra Latest Shayari,

Vijayadashami Festival Facebook Whatsapp Shayari 2020

Whatsapp Shayari

रहें भूखा ना कोई आए सबके घर में खुशहाली,
भले कर्मों की जय हो देश हो दुष्कर्म से खाली |.

Dussehra Shayari Wallapaer

राम-नाम जो जप रहे, कर रावण सा काम,
सलिल’ राम ही करेंगे, उनका काम तमाम |.

Vijayadashami Festival Shayari 2020

कभी भी दुःख का आप पर पड़े ना साया,
राम जी के नाम का ऐसा असर हैं छाया,
हर पल धन धन्य आयें आपके अंगना हैं,
वियजदशमी पर मेरी यही मनोकामना |.

Dussehra Wishes SMS

अधर्म पर धर्म की विजय,
असत्य पर सत्य की विजय,
बुराई पर अच्छाई की विजय,
पाप पर पुण्य की विजय,
अत्याचार पर सदाचार की विजय,
क्रोध पर दया, क्षमा की विजय,
अज्ञान पर ज्ञान की विजय,
रावण पर श्रीराम की विजय,
के प्रतीक पावन पर्व |.

Vijayadashmi Shayari

ना सह सका जो अपनी बहन का अपमान,
था जिसे चारों वेदो का ज्ञान,
भाई कुम्भकरण और बेटा मेघनाथ,
सोचों क्यों नहीं होता उसका सम्मान |.

Happy Vijayadashmi Shayari

जैसे राम ने जीता लंका को,
वैसे आप भी जीते सारी दुनिया.
इस दशहरा मिल जाएँ आपको,
दुनिया भर की सारी ख़ुशियाँ |.

Happy Dasara Sms Hindi

दहन पुतलो का ही नहीं,
बुरे विचारों का भी करना होगा,
श्री राम का करके स्मरण,
हर रावण से लड़ना होगा |.

Vijaya Dashami Wishes Shayari

मन को बनाये रखो राम, कभी नहीं जीते गा कोई रावण,
अच्छाई को हमेशा फैलाते रहो, जीत जाओगे हर रण |.

Dussehra Shayari in Hindi

कभी भी दुःख का आप पर पड़े ना साया,
राम के नाम का ऐसा असर हैं छाया,
हर पल धन आयें आपके अंग ना,
वियजदशमी पर है मेरी यही मनोकामना |.

Dussehra Latest Shayari

ऐ मेरी दिल की रानी, तेरा प्यार खड़ा है तेरे दरबार,
मार अपने मन के रावण को और आ जा इस दिल की खातर,
दिलों की आवारगी ऐसी छायी है कि तुझ बिन रह नहीं सकता,
लेकिन मैं रावण नहीं बन सकता है क्योंकि इंसानियत बिन मैं जी नहीं सकता |.

Leave a Reply